DMCA.com Protection Status best friend ke liye shayari | बेस्ट फ्रेंड के लिए शायरी हिंदी में

Ticker

6/recent/ticker-posts

best friend ke liye shayari | बेस्ट फ्रेंड के लिए शायरी हिंदी में

 best friend ke liye shayari | बेस्ट फ्रेंड के लिए शायरी हिंदी मे

वक्त की यारी तो हर कोई करता है मेरे दोस्त,
मजा तो तब है जब वक्त बदल जाये पर यार ना बदले
_______________________________________________

दोस्त साथ हो तो रोने में भी शान है,
दोस्त ना हो तो महफिल भी शमशान है!

Dost sath hoto raaton mein bhi saan ha,
Dost na hoto mehfil bhi samsan ha!
_______________________________________________

नाम छोटा है मगर दील बडा रखता हु,
पैसो से इतना अमीर नही,
मगर अपने यारो के गम खरीदने की औकात रखता हु
_______________________________________________

संगीत की जरूरत हर महफ़िल में होती है,
मोहब्बत की जरूरत हर एक दिल में होती है,
बिना दोस्तों के है अधूरा है यह जीवन,
क्योंकि उनकी जरूरत हर एक पल में होती है।

sangeet ki jarurat har mahfil me hoti ha,
mohabaat ki jarurat har ek dil me hoti ha,
bina dosti ke ho adura ha yeh jiban,
kyuki unki jarurat har ek pal me hoti ha.
_______________________________________________

phoolo ki waadi mein ho basera tera,
sitaron ke angan mein ho ghar tera,
dua hai ek dost ki ek dost ke liye,
ki mujh se bhi khubsurat ho muqadar tera.
_______________________________________________

kabhi dost kehte ho kabhi dua dete ho,
kabhi be-waqt neend se jaga dete ho,
par jab yaad karte ho, khuda ki kasam,
Zindagi ke saare gum bhula dete ho.
_______________________________________________

Isse pehle ki subh fute aye dost,
bijli ki tarah wo hum pe tute aye dost,
udte hue lamhat ko yu apna le,
ek lamhat bhi hatho se n chute aye dost.
_______________________________________________

न जाने कुछ दिन बाद कैसा माहौल होगा,
हम सब दोस्तों में से कौन कहाँ होगा,
फिर अगर मिलना होगा तो मिलेंगे सपने मे,
जैसे सूखे गुलाब मिलते है पुरानी किताबों मे।

Na jane kuch din bad kaisa mahol hoga,
hum sab dosto me se kon kha hoga
fir agar milna hoga to melenge sapno me
jaise sukhe gulab milte ha purani kitabo me.
_______________________________________________

कितनी छोटी सी दुनिया है मेरी,
एक मै हूँ और एक दोस्ती तेरी
_______________________________________________

हर खुशी दिल के करीब नहीं होती,
ग़मों से जिन्दगी दूर नहीं होती,
ऐ मेरे दोस्त “दोस्ती” संजो कर रखना,
हर किसी को दोस्ती नसीब नहीं होती।

Har khusi dil ke karib nehi hoti,
gum se zindagi dur nehi hoti,
a mere dost “DOSTI” sja kr rkhna
har kisi ko dosti nasib nehi hoti.
_______________________________________________
ज़िन्दगी के सारे गम क्यों बाँट लेते हैं दोस्त
क्यों ज़िन्दगी में साथ देते हैं दोस्त
रिश्ता तो सिर्फ उनसे दिल का होता है जी
फिर भी क्यों हमे अपना मान लेते हैं दोस्त
_______________________________________________

उन लम्हों की हवा में एक शाम हमारा हो, 
उगते चमन में एक गुल हमारा हो, 
जब सोचे हम अपने दोस्तों के बारे में, 
उन नामों में बस एक नाम तुम्हारा हो।
_______________________________________________

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ