DMCA.com Protection Status Photo par shayari - photo waali shayari

Ticker

6/recent/ticker-posts

Photo par shayari - photo waali shayari

 Photo par shayari - photo waali shayari In hindi

लौट कर नही आता कोई भी वक़्त 

बस हसीन यादों का साथ रह जाता है ..


कुछ वक्त खुद को भी दे, 

वर्ना दुनिया सारी उम्र छीन लेगी.. !!



दिल कह रहा है तुझसे मोहब्बत का इज़हार कर लूं,

मन कह रहा है थोड़ा इंतज़ार और कर लूं !! 



दुख अपना अगर हम को बताना नहीं आता

तुम को भी तो अंदाज़ा लगाना नहीं आता



वो इस कमाल से खेले थे इश्क़ की बाज़ी

मैं अपनी फतेह समझता रहा मात होने तक ..!!



हम से नफरत वाजिब है साहिबा,

ना करोगे तो मोहब्बत हो जाएगी..!!



जनाब कभी हटा कर तो देखिए चोला ये उम्र का, 

कि दिल से खुद को बच्चा ही पाओगे !!



तू गंगा की बहती धारा मैं बनारस के किसी घाट सा किनारा,

तू महादेव की पुजारन सी और मैं महादेव का दुलारा.....!!



कर ले जीतने सितम करने है ए -जिंदगी

हम भी बड़े बेशरम है

इतनी आसानी से हार तो हम भी मानेंगे नही



हया से सर झुका लेना अदा से मुस्कुरा देना,

हसीनों को भी कितना सहल है बिजली गिरा देना।



खुद से मिलने की भी फुरसत नहीं है अब मुझे,

और वो औरो से मिलने का इलज़ाम लगा रहे है…



बात चली चाँद से सुन्दर कौन है,हम गलती से गुलाब बता बैठे,

झुंझलाये वो इस कदर,झटके से नकाब उठा बैठे।।।।



सोचा था हज़ारों लफ़्ज लिखूंगा, तुम्हें सामने बिठाकर..

नज़र तुम्हारे तिल पे क्या ठहरी, कागज़ कोरे रह गए..



मुझे फ़ुर्सत कहाँ मौसम जो सुहाना देखूँ,

तेरी यादों से निकलूँ तो ज़माना देखूँ ।



नहीं करते शरीक तेरे ख़्याल में किसी और को,

हम तेरे ख़्याल का भी बहुत ख्याल रखते हैं....!



माना कि तेरे दर पे हम 

खुद चलकर आये थे ऎ इश्क़ ...,

लेकिन दर्द दर्द और बस दर्द 

ये कहाँ की मेहमान नवाजी है ...!!



बेहतर होता हम मिले ही न होते

कमबख्त यूं मर मर कर जीना किसे पसंद है।



एक बार फिरसे मोहब्बत करेंगे हम,

मुर्शिद

भरोसा उठा है, हमारा जनाज़ा नहीं...



इंसान चाहे जितना भरा हो, प्रेम के लिए हमेशा खाली रहता है।



तुने किया न याद कभी भूल कर हमें 

मैंने तेरी याद में सब कुछ भुला दिया



जब धीमे धीमे हंसती हो,उस बारिश जैसी लगती हो।।

थोड़ी ही दिल की कहती हो,ज्यादा दिल में रखती हो।।

क्यूं जाओ रंगरेज के पास,तुम तो सियाह में भी जंचती हो।।

करने दो उन्हें सिंगार.....तुम तो सादा भी सजती हो।।।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ