DMCA.com Protection Status Sad shayari pic, image & wallpaper in hindi

Ticker

6/recent/ticker-posts

Sad shayari pic, image & wallpaper in hindi

Sad shayari pic, image & wallpaper in hindi

तेरे गुरूर को देखकर तेरी तमन्ना ही छोड़ दी हमने....

ज़रा हम भी तो देखें कौन चाहता है तुम्हें हमारी तरह...



जो तेरे दिल पे हमेशा वार किया करता है

ए दिल तू उससे ही क्यूं प्यार किया करता है...



हँस कर कबूल क्या कर ली सजाएँ मैंने, ज़माने ने दस्तूर ही बना लिया हर इलज़ाम मुझ पर मढ़ने का..!!



दिल न रोण दिया करो . . .

 दिल के चककर म 

खुद न नुकसान मत पहुचाओ



लौटने का ख्याल भी आए तो बस चले आना,

इंतजार आज भी बड़ी बेसब्री से है तुम्हारा।।



खुबसूरत लोग हमेशा अच्छे नहीं होते, 

लेकिन अच्छे लोग हमेशा खुबसूरत होते है !!😊



जिंदगी तो बेवफ़ा है, एक दिन ठुकराएगी...

मौत महबूबा है, साथ लेकर जायेगी...



तुम क्या जानो हाल हमारा,

एक तो शहर बन्द ऊपर से ख्याल तुम्हारा ।



कुछ इस तरह से मेरी जिंदगी में उस का राज हैं,

जैसे चाय की चुस्की मे अदरक का स्वाद हैं...



नफ़रत बता देती है,

मुहोब्बत कितने कमाल की थी..!!!



आओ ना, थोड़ा इश्क निभाते है, 

दो घूंट चाय है, इक -इक कर दोनों पी जाते हैं....



मेरे इश्क का सफ़र तो बस तेरी ही दहलीज़ तक...

तेरे इश्क़ में तो हम हमसफ़र बन जाएँगें,

तुम दिल हो मेरा हम तेरी नज़र बन जाएँगें !



उसके झूठ बोलने की कला तो देखो,सच जानते हुए भी,उसकी हा में हां मिला दी हमने......



मोहब्बत करने वालो को.... वक़्त कहा जो गम लिखेगे....

ए दोस्तों कलम इधर लाओ, इनके बारे में हम लिखेगे....



दिल पर क्या गुजरती है किसी से बिछड़ने के बाद,,,

कभी हार कर देखना सब कुछ जीतने के बाद...



कोई और तुम्हें चाहे तो

 दिल हमारा जलता है 

पर गुरूर है इस बात का 

कि तुम पर हर कोई मरता है



मैं उसका हूं यह राज तो वह जान चुकी है

वो किसकी है यह सवाल मुझे

 सोने नहीं देता



प्यार था, मोहब्बत थी, इश्क़ था और अदा थी

वफ़ा भी होती तो कयामत था वो शख़्स...!!!



बहुत अजीब हैं 

ये मोहब्बत करने वाले,

बेवफाई करो तो रोते हैं 

और वफा करो तो रुलाते हैं।



किसी की यादों से अगर , ज़िन्दगी गुज़र जाती...

तो कभी कोई किसी से , मिलने की फरियाद ना करता...



मत पूछो की उसके प्यार करने का अन्दाज कैसा था...

उसने इतनी सिद्दत से सीने लगाया की सांस भी रुक गयी और जान भी ना गई....



अब मेरा कोई अपना नहीं है,

चलो अच्छा है, कोई खतरा नहीं है...!!



जो आनंद अपनी

छोटी पहचान बनाने मे है,

वो किसी बड़े की

परछाई बनने मे नही है



मैं मुसीबत में अकेला हूँ...

तो यार हैरत कैसी...??

हर कोई डूबती हुई क़श्ती 

से उतर ही जाता है...!!



हमारे दिल से निकलने का 

रास्ता भी ना ढूंढ़ सके.....

जो कहते थे

तुम्हारी रग-रग से 

वाकिफ है हम..



मनाने की कोशिश तो बहुत की हमनें

पर जब वो हमारे लफ़्ज ना समझ सके

तो हमारी खामोशियों को क्या समझेंगे।


हमारे दिल से निकलने का 

रास्ता भी ना ढूंढ़ सके.....

जो कहते थे

तुम्हारी रग-रग से 

वाकिफ है हम....



नफ़रत हो जाएगी तुझे ख़ुद से.... 

अगर मैं तुझसे तेरे ही अंदाज में बात करूं.....!!



खूबियाँ बहुत हैं मुझमें, 

और ऐब तो बेशुमार हैं.....

अब ढूँढ़ने वाले तू सोच कि,

तू किसका हकदार हैं....



सुनो अब लौट कर मत आना,

ये तन्हाई अब  हमें तुमसे भी प्यारी लगती हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ